RBL बैंक के खाताधारकों के लिए खुशखबरी…नहीं है कार्ड की जरुरत…अब दुनिया के किसी भी कोने में करें अपने मोबाइल से पेमेंट

RBL बैंक के खाताधारकों के लिए खुशखबरी…नहीं है कार्ड की जरुरत…अब दुनिया के किसी भी कोने में करें अपने मोबाइल से पेमेंट

प्राइवेट सेक्टर के बैंक आरबीएल (RBL Bank) और मास्टरकार्ड (Master Card) ने एक मोबाइल आधारित कंज़्यूमर-फ्रेंडली पेमेंट सॉल्युशन लॉन्च किया है. यह भारत में अपनी तरह की पहली पेमेंट फंक्शनलिटी ऐप है. आरबीएल बैंक खाताधारक अब इन-स्टोर एवं ऑनलाइन पेमेंट अपने मोबाइल बैंकिंग एप्लीकेशन द्वारा पूरी दुनिया में कॉन्टैक्टलेस कर सकेंगे. यह सुविधा पूरी दुनिया में मास्टरकार्ड स्वीकार करने वाले सभी दुकानों पर उपलब्ध होगी, जो कॉन्टैक्टलेस एवं ऑनलाइन भुगतान स्वीकार करते हैं.

पे बाय बैंक ऐप के बारे में जानिए…

ये ऐप ग्राहकों को ऑनलाइन फ्रॉड से बचाती है. ‘पे बाय बैंक ऐप’ सुनिश्चित करता है कि बैंक उपभोक्ता के पेमेंट क्रेडेंशल्स दुकानदार के पास कभी नहीं पहुंचें और ट्रांजेक्शन पूरी तरह से सेफ रहे.

बैंक के ग्राहकों को मास्टरकार्ड की ग्राहक सुरक्षा की सभी सुविधाएं मिलना जारी रहेंगी, जो इस समय उनके डेबिट कार्ड पर मिलती हैं.

इसके अलावा, यह समाधान व्यक्तिगत विनिमय कंट्रोल प्रस्तुत करता है, जिसके द्वारा बैंक के ग्राहक यह निर्धारित कर सकते हैं कि उनके भुगतान के क्रेडेंशल्स का इस्तेमाल कैसे, कहां और कब किया जाए.

हाल में डिजिटल को मिले प्रोत्साहन एवं स्वास्थ्य सुरक्षा और सोशल डिस्टैंसिंग के नए नियमों से डिजिटल, कॉन्टैक्टलेस भुगतान में ज्यादा विकल्पों की जरूरत महसूल हुई.

मास्टरकार्ड के हाल के सर्वे के अनुसार, भारत के 49 प्रतिशत लोग ऑनलाईन ज्यादा खरीद करने की योजना बना रहे हैं. इसी दौरान, भारत में 68 प्रतिशत उपभोक्ताओं का मानना है.

इन-स्टोर शॉपिंग कम हो जाएगी. बड़ी संख्या में लोग, लगभग 77 फीसदी लोग मानते हैं कि कॉन्टैक्टलेस भुगतान स्थायी रूप से रहने वाला है.

इस समाधान द्वारा दुकान को ज्यादा स्वीकृति दर का लाभ मिलेगा क्योंकि हर भुगतान को खाताधारक स्वयं स्वीकृत करेगा. इसके अलावा, मर्चैंट्स को बढ़े हुए कॉन्टैक्टलेस विनिमयों का लाभ भी मिलेगा क्योंकि ज्यादा खाताधारक भुगतान करने के लिए अपने मोबाइल ऐप का इस्तेमाल करेंगे.

आरबीएल बैंक में हेड- ब्रांच बैंकिंग, सुरिंदर चावला ने कहा, हम मास्टरकार्ड के साथ यह अद्वितीय पेमेंट एप्लीकेशन लॉन्च कर रहे हैं, जो एक तरफ ग्राहकों को सरल, तीव्र एवं सुरक्षित भुगतान प्रस्तुत करती है, तो दूसरी तरफ मर्चैंट्स को अस्वीकृति या जालसाजी जैसे भुगतान की चुनौतियों का समाधान देती है.

यह कॉन्टैक्टलेस बैंकिंग प्रदान करने के हमारे प्रयासों के अनुरूप है, ताकि कोविड-19 के इस अप्रत्याशित समय शारीरिक संपर्क की जरूरत न पड़े.

पौरुष सिंह, डिवीज़न प्रेसिडेंट, साउथ एशिया, मास्टरकार्ड ने कहा, ‘‘मास्टरकार्ड एवं बैंक द्वारा प्रस्तुत सुरक्षा के साथ, ‘पे बाय बैंक ऐप’ ऑनलाईन या टच-फ्री भुगतान तलाशने वाले एवं अपने क्रेडेंशल्स की बेहतर सुरक्षा चाहने वाले उपभोक्ताओं की जरूरतों को पूरा करने के लिए एक डिजिटल भुगतान का समाधान प्रदान करता है.

उन्होंने कहा, डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने के भारत सरकार के उद्देश्य में योगदान देते हुए यह इस बात का उदाहरण है कि मास्टरकार्ड की प्रौद्योगिकी किस प्रकार ग्राहक बैंक्स को विनिमय सरल, सुगम व ज्यादा सुरक्षित बनाने में मदद कर रही है.

भुगतान एप्लीकेशन द्वारा सपोर्टेड अन्य क्षमताओं में मोबाईल बैंकिंग एप्लीकेशन द्वारा बिल भुगतान एवं व्यक्तिगत भुगतान शामिल हैं. यह एप्लीकेशन दक्षिण पूर्व एशियाई बाजारों में विस्तृत रूप से उपलब्ध है, जहां इसे बैंकों व डिजिटल कंपनियों से अनुकूल प्रतिक्रिया मिल रही है, जो डिजिटल भुगतान क्षमताएं जोड़कर या अपने ग्राहकों के लिए संपर्क रहित स्वीकृति संभव बनाने के लिए अपने मोबाईल ऐप्स में परिवर्तन लाना चाहते हैं.

+